Bedana : A wonderful medicine
/ Categories: Healthy Kitchen
Visit Author's Profile: SuperUser Account

Bedana : A wonderful medicine

 

o   बेदाना – एक अदभुत औषधि

                             मासिक धर्म में होने वाली परेशानियों से पायें छुटकारा केवल सात दिन में 

Ø  ग्रीष्म ऋतु जहाँ अनेक बीमारियों को साथ लाती हैं, वहीं इस ऋतु में शरीर तथा मन की शीतलता सभी लोग चाहते हैं | इस मौसम में हमारे स्वास्थ्य के लिए शीतल पेय पदार्थों की बड़ी आवश्यकता होती है | इसके लिए लोग पेप्सी, कोकाकोला आदि कोल्डड्रिंक्स का सेवन करते हैं, जो कि स्वास्थ्य के लिए अत्याधिक हानिकारक होते हैं | इन पेय पदार्थों में कार्बनडाइआक्साइड होने के कारण खुश्की, पेट की विभिन्न बीमारियाँ और अन्य कई रोग पैदा हो जाते हैं |

Ø  किन्तु बेदाना का प्रयोग हमारे ऋषियों की अदभुत खोज है | कुछ ही दिनों में उसका प्रत्यक्ष प्रमाण हमारे सामने आता है | यह एक वनस्पति का बीज है जो कि बाजार में बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जाता है |

Ø  विधि – मिट्टी के बर्तन में थोड़ा सा पानी लेकर उसमें बेदाना डाल दें | एक व्यक्ति को एक दिन में ५. ७ ग्राम बेदाना का प्रयोग करना चाहिए | रातभर पानी में रखने के बाद सुबह उसे मथनी से खूब मत लें फिर एक साफ़ कपड़े से छानकर पुन: उसी मिट्टी के बर्तन में उसका रस निकाल लें | तत्पश्चात उसमें आवश्यकतानुसार मिश्री अच्छी तरह से मिला दें | प्रात:काल बिना कुछ भी खाये-पिये इसका उपयोग करें | इसके पश्चात लगभग डेढ़ घंटे तक कुछ खाये-पियें नहीं | एक सप्ताह ता लगातार इसका उपयोग करें |

·         पढिये इसके सेवन से होने वाले लाभ

Ø  लाभ – शरीर को शीतल रखने का यह एक अदभुत प्रयोग है | इसके उपयोग से शरीर की गर्मीं शांत होती है | पेट की बीमारियाँ जैसे कब्ज, अम्लपित्त आदि रोगों के लिए भी रामबाण है | यह औषधि कमजोरी तथा आलस्य को दूर कर शरीर में अदभुत शक्ति का संचार करती है | इसका एक सप्ताह का प्रयोग पूरे गर्मी के मौसम में आपके शरीर को गर्मी के प्रकोप से बचाकर शीतलता प्रदान करता है |

Ø  पेय पदार्थों के रूप में बिकनेवाले जहर का प्रयोग बंद करके आयुर्वेद के इस अनमोल रत्न का प्रयोग करके, आप स्वस्थ रह सकते हैं | हर प्रकार का व्यक्ति इसका सेवन कर सकता है | आपका शरीर स्वस्थ, मन प्रसन्न तथा वृत्ति शांत होने लगेगी |

Ø  सारी बीमारियाँ, वात, पित्त और कफ- इन तीन दोषों से ही होती है | पित्त दोष से होनेवाली तमाम बीमारियों को यह बेदाना नष्ट करता है |

Ø  महिलाओं के मासिक धर्म के कारण रक्तस्त्राव, स्वप्नदोष , प्रदर आदि रोग जो कि तमाम दवाइयाँ करने से भी नहीं मिटते, वे सब इस बेदाना के शीतल पेय से सात दिन में गायब होने लगते हैं |

Ø  इसमें बहुत सारे गुण हैं लेकिन इसकी प्रकृति ठंडी होने के कारण इसका प्रयोग सात दिन ही करना चाहिए | इस निर्दोष वनस्पति का अंग्रेजी दवाइयों की तरह कोई ‘साइड इफेक्ट या “रिएक्शन” नहीं होता है | आयुर्वेदिक पद्धति में जिस प्रकार की व्यवस्था है, उसी प्रकार का यह आयुर्वेदिक रोगनाशक टानिक है | 

Print
2235 Rate this article:
4.4

Please login or register to post comments.