EasyDNNNews

पूज्य संत श्री आशारामजी बापू का पावन अवतरण दिवस

पूज्य संत श्री आशारामजी बापू का पावन अवतरण दिवस

पलक पाँवड़े अभिनन्दन को  हमने पथ  में बिछाये हैं। 

 अर्पित हैं स्वीकार कीजिये श्रद्धा सुमन जो लाये हैं ।।

धारण करते धनुष कभी और वंशी कभी बजाते हैं ।

जब -  जब होती हानि धर्म की प्रभु धरा पर आते हैं ।।

घोर निराशा हरने भगवान आशा राम जी आयें हैं।

इन्द्रधनुष उतरा अंबर से चरण चूमने गुरुवर के ,

साधक बने गोपियाँ झूमे संग-संग प्यारे सुंदर के ।

आपने अपनी मधु चितवन से सबके चित्त चुराये हैं ।

पवन पवित्र दिवस आया है मंगल घड़ियाँ लाया है ।

आज के शुभ दिन ही तो हमने प्यारा सदगुरु पाया है ।

श्री चरणों में आकर हमने अपने भाग्य जगाये हैं ।

अजर अमर गुरुदेव आप हो हृदय की भावना यही ।

दिन दिन तेज प्रताप बड़े हम सबकी है कामना यही ।

भावों का ये पुष्प हार हम भक्त भेंट में लायें हैं ।

 

Previous Article शिष्य कैसा होना चाहिए ?
Print
141 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.