Gita Prashanotri

Gita Prashanotri

          -: गीता प्रश्नोत्तरी :-

१. गीता के अनुसार अन्न कितने प्रकार का होता है?

  १. चार                  २. तीन

  ३. छ:                   ४. पांच

२. नरक के द्वार कितने है ?

१. छ:                      २. चार

३. पांच                     ४. तीन

३. भगवान का विराट रूप देखने के लिए अर्जुन को भगवान ने क्या दिया ?

१. धनुर्विद्या                २. ज्ञान

३. दिव्यदृष्टि                ४. योगविद्या

४. श्रद्धा कितने प्रकार की होती है ?

१. सात                      २. चार

३. आठ                      ४. तीन

५. क्या भगवान के भक्त का नाश होता है ?

१. हाँ                        २. कभी नहीं

३. नहीं              ४. उपरोक्त में से कोई नहीं

६. कल्याण की कामना करने वाले प्राणी को क्या करना चाहिए ?

१. भक्ति               २. आत्मज्ञान का विचार

३. सब कुछ भगवान को अर्पण करना           ४. उपरोक्त सभी

७. भगवान की पूजा करने वाले किस लोक को प्राप्त होते है ?

१. तपलोक                  २. पितृलोक  

३. स्वर्गलोक                  ४. वैकुंठलोक

८. भगवान के लिए कौनसा भक्त परम प्रिय है ?

१.  कर्मकांडी               २. अर्थार्थी

३. समत्व में स्थित         ४. मंदिर में जाने वाला  

९. गीता में कितने लोगों के नाम का उल्लेख हुआ है ?

१. बीस                       २. इक्कीस 

३. पच्चीस                     ४. छब्बीस  

१०. अर्जुन के ध्वज पर क्या निशान था  ?

१. हनुमान जी                  २. रामजी

३. शिवजी                     ४. कृष्ण जी

११. गीता का मूल ज्ञान क्या है ?

१. तत्वज्ञान                   २. आत्मज्ञान

३. उपरोक्त दोनों          ४. निष्काम कर्म योग

१२. प्रकृति के कितने गुण हैं ?

१.           चार                       २. पांच

३.           तीन                      ४. छे

 

१३. भगवान सम्पूर्ण प्राणियों में कैसे रहते हैं ?

१. ब्रह्म रूप से               २. स्वाभाव से    

३. वायु रूप में                ४ वेद रूप में          

१४. ‘ॐ तत् सत् क्या है ?

१.बीज मंत्र                 २. गुरु मंत्र  

३.वेद मंत्र                    ४. साबरी मंत्र  

१५. महाभारत के युद्ध में शंख सर्वप्रथम किसने बजाया ?

१.अर्जुन                      २.दुर्योधन

३. भीष्म पितामह              ४.युधिष्ठिर

 

-: उत्तर पत्रिका :-

1.(१)  2. (४)  3. (३)  4. (४)  5. (२)  6. (४) 7. (४) 8. (३)  9. (४)  10.(१) 11. (३) 12.(३) 13. (१)  14. (३)  15. (३) 

Previous Article Tulsi Mahima
Next Article To Receive the Divine Knowledge of God...
Print
711 Rate this article:
4.0

Please login or register to post comments.

Name:
Email:
Subject:
Message:
x