Seva Triveni Mahotasav

Seva Triveni Mahotasav

विश्ववन्दनीय परम पूज्य संत श्री आशारामजी बापूजी के “८१ वें अवतरण दिवस” अर्थात् विश्व सेवा सत्संग दिवस के उपलक्ष्य में, “सेवा त्रिवेणी महोत्सव” का आयोजन | आयोजक ..महिला उत्थान मंडल, अखिल भारतीय श्री योग वेदांत सेवा समिति, अहमदाबाद  


“सेवा त्रिवेणी महोत्सव”  

भगवान व भगवद्प्राप्त संत करुणा से अवतरित होते हैं इसलिए उनका जन्म दिव्य होता है | सामान्य व्यक्ति स्वार्थ से कर्म करता है और भगवान व संत लोगों के मंगल व हित की भावना से कर्म करते हैं | वे कर्म करने की ऐसी कला सिखाते हैं कि कर्म करने का राग मिट जाय, भगवदरस आ जाये, अपने मुक्तस्वरूप में टिक जाए | अपने कर्म और जन्म को दिव्य बनाने के लिए ही भगवान व महापुरुषों का अवतरण दिवस मनाया जाता है | 

करुणावान, कर्मयोगी पूज्य बापूजी के पथ का अनुसरण कर देश-विदेश में फ़ैले उनके सेवाभावी शिष्य पिछले अर्धशतक से भी अधिक वर्षों से विश्ववन्दनीय परम पूज्य संत श्री आशारामजी बापू का अवतरण दिवस ‘सेवा सत्संग दिवस’ के रूप में मनाकर वसुधैव कुटुम्बकम् की भावना को समाज में सुदृढ़ करते आये हैं | 

 इस वर्ष संत श्री आशारामजी बापू द्वारा प्रेरित महिला उत्थान मंडल की ओर से पूज्य बापूजी के  ......अवतरण दिवस पर सेवा त्रिवेणी महोत्सव आयोजित किया जा रहा है |   
क्या है सेवा त्रिवेणी महोत्सव में ....

जिस प्रकार भारत की तीन पूजनीय नदियों गंगा, यमुना, सरस्वती के त्रिवेणी संगम में स्नान करने का अमिट पुण्य होता है उसी प्रकार इस पावन दिवस पर “सेवा त्रिवेणी”(स्वच्छता अभियान, पलाश शर्बत वितरण एवम हॉस्पिटल, अनाथालयों अथवा जेलों में फल व सत्साहित्य वितरण) में सहभागी होकर अमिट पुण्य का संचय कर अपना अपना भाग्य बनाएँ |      

Next Article स्वच्छता अभियान
Print
369 Rate this article:
No rating

Please login or register to post comments.

Name:
Email:
Subject:
Message:
x

123456