क्या आपको भी चाहिए राम और कृष्ण जैसी संतान ?
Visit Author's Profile: Admin

क्या आपको भी चाहिए राम और कृष्ण जैसी संतान ?

पूज्य बापूजी कहते हैं : मनुष्य को जन्माष्टमी, शिवरात्रि, नवरात्रि आदि पर्व- त्यौहारों तथा एकादशी, पूनम, अमावस्या, ग्रहण, शौच, श्राद्ध, संध्याकाल इन अवसरों पर संयम रखना चाहिए । नहीं तो आसुरी, कुसंस्कारी अथवा विकलांग संतान उत्पन्न होती है । यदि संतान नहीं हुई तो दंपति को कोई खतरनाक बीमारी हो जाती है, जिससे वे बेचारे उम्र भर रोते रहते हैं । वर्तमान युग में कई माता-पिता ऐसा सोचते हैं कि हमें ऐसे पुत्र क्यों हुए ? उन्हें यह कथा समझ लेनी चाहिए । आजकल स्त्री अथवा पुरुष गर्भाधान के लिए उचित-अनुचित समय-तिथि का ध्यान नहीं रखते हैं । परिणाम में समाज में आसुरी प्रजा बढ़ रही है । बाद में माता-पिता फरियाद करते रहते हैं कि हमारे पुत्र हमारी आज्ञा में नहीं चलते हैं, उनका चाल-चलन ठीक नहीं है इत्यादि । परंतु यदि माता-पिता शास्त्र की आज्ञानुसार रहें तो उनके यहाँ दैवी और संस्कारी संतानें उत्पन्न होंगी, राम और कृष्ण के समान बालक जन्म लेंगें ।

 

Previous Article गर्भावस्था में पानी की कमी हो तो क्या करें ...
Print
856 Rate this article:
4.0
Please login or register to post comments.

Pregnancy Tips